24.1 C
Ranchi
Thursday, July 25, 2024
Contact: info.jharkhandlife@gmail.com
spot_img
HomeWorld Newsपीएम मोदी का संदेश : युद्द की भूमि से नहीं हो सकता...

पीएम मोदी का संदेश : युद्द की भूमि से नहीं हो सकता है समस्याओं का समाधान

spot_img

National News: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस दौरे के बाद ऑस्ट्रिया पहुंचते हुए उक्रेन युद्ध पर भारत की दृष्टि साझा की और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को संदेश दिया। उन्होंने ऑस्ट्रिया के कांसलर कार्ल नेहमर के साथ संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में बातचीत की, जिसमें उन्होंने यूक्रेन में चल रहे संघर्ष के बारे में विचार-विमर्श किया। मोदी ने यह दोबारा स्पष्ट किया कि युद्ध का समाधान रणभूमि में नहीं हो सकता है और समस्याओं के लिए बातचीत का ही मार्ग एकमात्र विकल्प है।

उन्होंने अपने ऑस्ट्रिया दौरे को “सार्थक” बताया और इस अवसर पर अपने तीसरी बार चुने जाने पर चर्चा की। मोदी ने इस मौके पर उच्चायुक्त स्तर पर विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श करने का मौका मिला, जिसमें पश्चिमी एशिया की स्थिति भी शामिल थी। यह बयान उनके राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय दायित्वों के प्रति उनकी संवेदनशीलता और समझदारी को दर्शाता है।

शिष्टमंडल स्तर की बातचीत के बाद मोदी ने कहा कि 41 साल बाद किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने ऑस्ट्रिया का दौरा किया है. यह यात्रा ऐसे समय में हो रही है जब हमारे आपसी संबंधों के 75 साल पूरे हुए हैं. लोकतंत्र और रूल ऑफ जैसे मूल्यों में साझा विश्वास हमारे संबंधों की मजबूत नींव है. 

पीएम मोदी ने कहा कि चांसलर नेहमर के साथ उनकी बातचीत बेहद सार्थक रही है. आने वाले दशक के लिए सहयोग का खाका तैयार किया गया है. यह आर्थिक और निवेश तक सीमित नहीं है. इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास, इनोवेशन, रिन्यूबल एनर्जी, हाइड्रोजन, वॉटर ऐंड वेस्ट मैंजमेंट, एआई और क्वांटम जैसे क्षेत्रों में एक दूसरे को जोड़ने का काम किया जाएगा.

भारत-ऑस्ट्रिया की दोस्ती मजबूत है: PM मोदी
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को ऑस्ट्रिया के चांसलर कार्ल नेहमर से मुलाकात की और द्विपक्षीय साझेदारी की पूरी क्षमता के दोहन के तरीकों पर चर्चा की. बैठक से पहले मोदी ने कहा कि भारत-ऑस्ट्रिया दोस्ती मजबूत है और आने वाले समय में यह और मजबूत होगी. मोदी दो दिवसीय यात्रा पर मंगलवार शाम मास्को से यहां पहुंचे. विगत 40 से अधिक वर्षों में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की यह पहली यात्रा है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने स्वागत समारोह की तस्वीरों के साथ ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘भारत और ऑस्ट्रिया द्विपक्षीय संबंधों में एक नया अध्याय लिख रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का फेडरल चांसलरी में ऑस्ट्रियाई चांसलर कार्ल नेहमर ने गर्मजोशी से स्वागत किया.”

पीएम मोदी को दिया गया ‘गार्ड ऑफ ऑनर’
मोदी को यहां संघीय सचिवालय (फेडरल चांसलरी) में वार्ता से पहले ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ दिया गया. उन्होंने अतिथि पुस्तिका पर हस्ताक्षर भी किए. ऑस्ट्रिया के विदेश मंत्री एलेक्जेंडर शालेनबर्ग ने यहां पहुंचने पर हवाई अड्डे पर मोदी का स्वागत किया. मोदी ने मंगलवार को एक निजी कार्यक्रम के दौरान नेहमर से मुलाकात की.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने वियना में दोनों नेताओं की तस्वीरों के साथ ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘भारत-ऑस्ट्रिया साझेदारी में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर! ऑस्ट्रिया के चांसलर कार्ल नेहमर ने एक निजी कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी की मेजबानी की. दोनों नेताओं के बीच यह पहली मुलाकात है. द्विपक्षीय साझेदारी की पूरी क्षमता को साकार करने पर चर्चा आगे होगाी.”

spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

--Advertisement--spot_img

Latest News

spot_img
Floating WhatsApp Button WhatsApp Icon