Breaking News
26 फरवरी खास होगा.. झारखंड के लिए पीएम मोदी 226.71 करोड़ की सौगात देंगे.. 26 फरवरी को तोहफों की झड़ी  |  लोकसभा चुनाव के लिए BJP का 'लाभार्थी संपर्क अभियान' से प्लान से गांव तक पैठ बनाने की तैयारी  |  "हेमंत सोरेन ने मेरी बात मानी होती.. तो आज जेल में नहीं होते" …JMM विधायक के बगावती तेवर!  |  “आज मेरी तो कल तेरी..” भाजपा नेताओं पर भड़के झामुमो विधायक, झारखंड में सरकार गिरने की बड़ी वजह बता दी..  |  PM Kisan Yojana: हजारों किसानों को लग सकता है बड़ा झटका! अब ये करने पर ही मिलेंगे 2000 रुपये..  |  चंपई सरकार ने विधानसभा में हासिल किया विस्वास मत, पक्ष में पड़े 47 वोट  |  '..बाल बांका करने की ताकत', विधानसभा में फूटा हेमंत सोरेन का गुस्सा, ED-BJP के साथ राजभवन को भी घेरा  |  CM बनते ही एक्शन में चंपई सोरेन, 3 वरिष्ठ अधिकारियों की दी बड़ी जिम्मेदारी; लॉ एंड ऑर्डर सख्त करने की तैयारी  |  अयोध्या के लिए Special Train.. 29 जनवरी को 22 कोच के साथ रवाना होगी आस्था स्पेशल एक्सप्रेस, जानें ट्रेन का शेड्यूल  |  अयोध्या के लिए Special Train.. 29 जनवरी को 22 कोच के साथ रवाना होगी आस्था स्पेशल एक्सप्रेस, जानें ट्रेन का शेड्यूल  |  
साक्षात्कार

उमेश कुमार झा, झारखण्ड लाइफ। 29/12/2022 :
राहुल गांधी ने अपनी शादी पर खुलकर की बात… जानिए कैसी लड़की है उसकी ड्रीम गर्ल..
 
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान अपनी शादी को लेकर भी खुलकर बात की. उन्होंने बताया कि उन्हें किस तरह की लड़की से शादी करनी है. राहुल गांधी ने शादी के सवाल पर कहा कि वह एक ऐसी लड़की के साथ जीवन में बसाना पसंद करेंगे, जिसमें उनकी मां सोनिया गांधी और दादी इंदिरा गांधी दोनों के गुण हों.

उनके जीवन का प्यार...

कांग्रेस नेता ने एक यूट्यूब चैनल को दिए इंटरव्यू में अपनी दादी इंदिरा गांधी के बारे में बात की. इस दौरान उन्होंने कहा- इंदिरा गांधी उनके जीवन का प्यार हैं, उनकी दूसरी मां हैं. इसके बाद उनसे पूछा किया गया- क्या आप ऐसी महिला से शादी करना चाहते हैं, जिसमें आपकी दादी जैसे गुण हों. इस पर राहुल बोले- यह दिलचस्प सवाल है. मैं ऐसी महिला चाहूंगा, जिसमें मेरी मां और दादी... दोनों के गुण हों. वह अच्छा रहेगा. राहुल गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल पर भी इंटरव्यू शेयर किया है.

मुझे पप्पू कहना..

आलोचकों द्वारा अलग-अलग नामों से बुलाने पर राहुल बोले, "मुझे परवाह नहीं है. आप मुझे कुछ भी कहकर बुलाएं, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता. मैं किसी से नफरत नहीं करता. आप मुझे गाली दें या मुझे मारें, मैं आपसे नफरत नहीं करूंगा."

 

राहुल गांधी ने उन्हें 'पप्पू' कहे जाने को प्रोपेगेंडा कैंपेन करार दिया. उन्होंने कहा कि जो लोग उन्हें ऐसा बुला रहे हैं, वे डर की वजह से ऐसा कर रहे हैं. उसके जीवन में कुछ भी नहीं हो रहा है. वे दुखी हैं, क्योंकि उनके जीवन में रिश्ते ठीक नहीं हैं, इसलिए वह किसी और को गाली दे रहे हैं. मैं इसका स्वागत करता हूं. वे मुझे और गालियां दे सकते हैं... मुझे कई और नाम दे सकते हैं, मुझे परवाह नहीं है.

समझ नहीं है कि इसे कैसे किया जाना चाहिए..

राहुल गांधी ने भारत में इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) क्रांति पर कहा, "मुझे नहीं लगता कि हम वह कर रहे हैं, जो हमें करना चाहिए क्योंकि, ईवी क्रांति के लिए एक नींव की जरूरत होती है और हमारे पास वह कहीं नहीं है."

उन्होंने कहा कि “बैटरी, मोटर और इंफ्रास्ट्रक्चर के उत्पादन की नींव नहीं है. यह रणनीतिक रूप से नहीं किया गया है, यह सब एड हॉक है. उन्हें वास्तव में इस बात की समझ नहीं है कि इसे कैसे किया जाना चाहिए." गांधी ने यह भी कहा कि भारत एक और क्रांति से चूक गया और वह है ड्रोन क्रांति. उन्होंने कहा कि इसके लिए वह बहुत दुखी हैं.

मैं एक कार ठीक कर सकता हूं..

कन्याकुमारी से कश्मीर तक पदयात्रा कर रहे राहुल गांधी ने इंटरव्यू के दौरान अपनी बाइक और साइकिल ड्राइविंग के प्यार के बारे में बात की. उन्होंने एक चीनी इलेक्ट्रिक कंपनी का भी जिक्र किया, जो इलेक्ट्रिक मोटर के साथ साइकिल और माउंटेन बाइक भी बनाती है.

राहुल गांधी ने एक अन्य सवाल पर जवाब दिया- "मुझे वास्तव में कारों में कोई दिलचस्पी नहीं है. मुझे मोटर बाइक में कोई दिलचस्पी नहीं है, लेकिन मुझे मोटर बाइक चलाने में दिलचस्पी है. मैं एक कार ठीक कर सकता हूं, लेकिन मुझे कारों का जुनून नहीं है. मुझे तेजी से चलने, हवा में उड़ने, पानी में बहने और जमीन पर आगे बढ़ने का विचार का पसंद है.”

बाइक चलने के बजाए साइकिल चलाना पसंद करते हैं..

राहुल गांधी ने कहा, "मैंने इलेक्ट्रिक स्कूटर चलाया है, लेकिन इलेक्ट्रिक बाइक कभी नहीं. क्या आपने इस चीनी कंपनी को देखा है...वह इलेक्ट्रिक मोटर्स वाली साइकिल और माउंटेन बाइक बनाती है... बहुत दिलचस्प कॉन्सेप्ट है..." उन्होंने कहा कि उनके पास कार नहीं है और उनके पास सीआर-वी है, जो उनकी मां की है.

उन्होंने कहा कि उन्हें R1 के बजाय एक पुराने लैंब्रेटा में ज्यादा सुंदर लगती है. उन्होंने कहा कि वे बाइक चलने के बजाए साइकिल चलाना पसंद करते हैं क्योंकि इसमें खुद की शक्ति का उपयोग होता है.



झारखंड की बड़ी ख़बरें
»»
Video
»»
संपादकीय
»»
विशेष
»»
साक्षात्कार
»»
पर्यटन
»»


Copyright @ Jharkhand Life
')