Breaking News
पीएम मोदी ने देवघर एयरपोर्ट का किया उदघाटन, करोड़ो रूपये के योजनाओं का किया शिलान्यास  |  केरल पहुंचा मॉनसून, झमाझम बारिश शुरू, जानें झारखंड में कब पहुंचेगा मॉनसून  |  लद्दाख में झारखंड का लाल सड़क हादसे में शहीद  |  चौथे चरण में शांतिपूर्वक तरीके से चल रहा मतदान  |  कैसे गिरी थी बाबरी मस्जिद: आँखों देखी लाइव रिपोर्ट  |  Jharkhand Corona Update: WHO और राज्य सरकार के अध्ययन के मुताबिक कोविड से मरने वाले 55% लोग गरीबी रेखा से नीचे के  |  पुतिन-मोदी मुलाकात LIVE: रूसी राष्ट्रपति ने कहा- भारत महान शक्ति और भरोसेमंद दोस्त; दोनों देशों के बीच 6 सेक्टर्स में समझौते संभव  |  माओवादियों ने लगाए पोस्टर लिखा: RSS के निर्देश पर केंद्र सरकार किसान,मजदूर, नौजवान व मानवाधिकार कार्यकर्ताओं पर कर रही हमले, विरोध का ऐलान  |  दिल्ली पहुंचा ओमिक्रॉन:तंजानिया से लौटे यात्री में मिला संक्रमण, देश में 4 दिन में नए वैरिएंट के 5 केस सामने आए  |  हिंदपीढ़ी के युवक मुजाहिद को मारी गई गोली, आक्रोशित लोगों ने हमले के आरोपी का घर जलाया, एक युवक गिरफ्तार  |  
अन्तरराष्ट्रीय
16/05/2018 :17:01
37 फिलिस्तीनियों की मौत 1600 से ज्यादा घायल
 
गाजा यरुशलम के गाजा में अमेरिकी दूतावास के खुलने से पहले सोमवार को हिंसक प्रदर्शन हुए। इस हिंसक प्रदर्शन में 37 फिलिस्तीनियों के मारे जाने की खबर है,जबकि 1600 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। कई मृतकों की पहचान अभी तक नहीं हुई है। गाजा-इजराइल सीमा के पास पत्रकारों को गोलियों की आवाज सुनाई दी।

इजरायल रक्षा बलों (आईडीएफ) ने सोमवार को एक बयान जारी किया जिसमें फिलिस्तीनी आतंकवादी समूह हमास पर आरोप लगाया। आईडीएफ का अनुमान है कि लगभग 35 हजार लोग,गाजा और इजराइल के बीच सीमा पर 12 अलग- अलग स्थानों पर इक_े हुए थे और सीमा से लगभग एक किलोमीटर दूर एक टेंट
में हजारों लोग इक_े हुए थे। सेना ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने सीमा पर स्थित इजराइली सैनिकों पर शराब की बोतलों में आग लगा कर फेंका, टायर जलाया और पत्थरबाजी की। आईडीएफ ने यह भी कहा कि कि उसने विशेष रूप से हिंसक प्रदर्शन के दौरान, मिस्र के साथ सीमा के नजदीक रफह के पास तीन सशस्त्र फिलिस्तीनियों द्वारा हमला गया किया था। फिलीस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 443 लोग गोला बारूद, 320 लोग टियर गैस और 3 लोग रबर की गोलियों से घायल हुए। फिलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक,पहला शिकार 21 वर्षीय अनास हमदान कदीह था, जिस खान यूनिस के पूर्व में इजराइली सेना ने गोली मार दी थी। इससे पहले इजराइल की सेना ने गाजा पर हवाई-गिराए गए पर्चे के जरिए लोगों को चेतावनी दी थी कि वे उस बाड़ के रास्ते ना आए जो गाजा को इजराइल से अलग करता है। अमेरिका ने मंगलवार को तेल अवीव से अपना दूतावास स्थानांतरित कर यरुशलम में खोल दिया। यह 2014 के बाद से सबसे भीषण हिंसा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यरुशलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के विवादास्पद कदम के तहत वहां अपना दूतावास खोलने की दिसंबर में घोषणा की थी। यरुशलम में दूतावास खुलने पर ट्रंप ने सुबह के अपने ट्वीट में इसे इजराइल के लिए एक महान दिन बताया। उन्होंने सुबह के इस ट्वीट में हिंसा का कोई जिक्र नहीं किया,लेकिन कहा,इस्राइल के लिए एक महान दिन।



झारखंड की बड़ी ख़बरें
»»
Video
»»
संपादकीय
»»
विशेष
»»
साक्षात्कार
»»
पर्यटन
»»


Copyright @ Jharkhand Life