Breaking News
क्या आप करते है रूम हीटर और अंगीठी का इश्तेमाल? अबतक दम घुटने से 4 दिनों में 7 की मौतें, 66 लोग पहुंचे रिम्स  |  जमाखोरों और सूदखोरों के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी थी निर्मल महतो ने, झारखंड के इस कद्दावर नेता की दिन दहाड़े हत्या कर दी गई थी, सीएम हेमंत सोरेन ने जयंती पर दी श्रद्धांजलि  |  झारखंड में मिले 55 पॉजिटिव, कंटेनमेंट जोन बनाने की तैयारी:रांची और कोडरमा में तेजी से फैल रहा कोरोना, हेल्थ डिपार्टमेंट अलर्ट  |  चक दे झारखण्ड: भारतीय महिला हॉकी टीम के कैंप के लिए 4 बेटियों का हुआ चयन,झारखंड के 6 खिलाड़ियों को मौका  |  झारखंड दे रहा देश को दिशा: झारखंड की दीदी बगिया योजना व सखी मंडल गतिविधियों को दूसरे राज्य भी करें लागू : एनएन सिन्हा   |  लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने का विरोध:झारखंड के मंत्री ने कहा- बढ़ाने के बजाय कम करनी चाहिए उम्र, UP के सपा सांसद बोले- आवारगी करेंगी लड़कियां  |  धनबाद में जज हत्या मामला: हाईकोर्ट ने कहा- CBI डायरेक्टर को बुला कर ही सवाल पूछना होगा, परिणाम की जगह केवल रिपोर्ट मिल रहा  |  Karnataka Congress MLA’s “enjoy rape” remark controversy and reactions  |  बैंक कर्मियों के हड़ताल: कोडरमा-चतरा जिले में 230 करोड़ का कारोबार प्रभावित  |  20 दिसंबर के बाद झारखंड में बढ़ेगी ठंड: कश्मीर की बर्फीली हवा राज्य में बढ़ाएगी कनकनी, दो दिन बाद बारिश के आसार  |  
अपराध

Kriti Verma 16/12/2021 :19:57
ओड़िशा से झारखंड में गांजा सप्लाई का बड़ा रैकेट पकड़ाया: गिरिडीह पुलिस 167.5 KG माल के साथ 2 लोगों को गिरफ्तार किया
 
2 लोगों को 500 ग्राम गांजे के साथ पकड़ा गया। कड़ाई से पूछताछ करने पर इन्होंने गांजे की बड़ी खेप अपने घर में छिपाकर रखने की बात स्वीकार कर ली। यह भी बताया कि यह दोनों पेशे से हाइवा चालक हैं।

झारखंड के गिरिडीह जिले की पुलिस ने गांजे की तस्करी करने वाले बड़े रैकेट का खुलासा किया गया है। ओडिशा के गंजाम जिले से गांजे की खेप झारखंड लाई गई थी। इसे राज्य के अलग-अलग जिलों के अलावा पश्चिम बंगाल के कुछ ठिकानों पर पहुंचाने की तैयारी थी। 

पकड़े गए माल का कुल वजन करीब 167.5 KG बताया जा रहा है। पुलिस ने इस मामले में मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के लेदा गांव निवासी रोहित साव और भुनेश्वर यादव को गिरफ्तार किया गया है। नशे का यह पूरा सामान हाईवा के जरिए लाया गया था।

गिरिडीह के पुलिस अधीक्षक अमित रेणु, सदर SDPO अनिल सिंह ने बताया कि अब तक की जांच में पता चला है कि यह पूरा माल ओड़िशा के ताथिया और बालाजी नाम के 2 व्यक्तियों की ओर से झारखंड भेजा गया था। पता चला है कि यह दोनो पड़ोसी राज्य में आयरन ओर के कारोबार से जुड़े हुए हैं। बिरनी थाना प्रभारी शर्मानंद सिंह को जानकारी मिली थी कि गिरिडीह के रहने वाले 2 लोग बड़े वाहन से गांजे की बड़ी खेप लेकर आए हुए हैं। इसे शहर में ही कहीं छिपाकर रखा गया है।

सूचना के आधार पर पुलिस ने सीमावर्ती इलाके कर्री मोड़ के समीप वाहन जांच अभियान शुरू किया गया। इस दौरान 2 लोगों को 500 ग्राम गांजे के साथ पकड़ा गया। कड़ाई से पूछताछ करने पर इन्होंने गांजे की बड़ी खेप अपने घर में छिपाकर रखने की बात स्वीकार कर ली। यह भी बताया कि यह दोनों पेशे से हाइवा चालक हैं। ओड़िशा से झारखंड के रास्ते पश्चिम बंगाल तक गाड़ियों का परिचालन करते हैं। इसी दौरान ओड़िशा से इनके वाहन पर नशे का यह सामान लोड कर भेजा गया। इसे गिरिडीह के प्रकाश रवानी नाम के व्यक्ति के पास पहुंचाना था। इसके बाद वाहन को पश्चिम बंगाल पुरुलिया ले जाकर किसी दूसरे शख्स के हवाले करने का निर्देश दिया गया था। इससे पहले ही इसका भंडाफोड़ हो गया।



झारखंड की बड़ी ख़बरें
»»
Video
»»
संपादकीय
»»
विशेष
»»
साक्षात्कार
»»
पर्यटन
»»


Copyright @ Jharkhand Life