Breaking News
क्या आप करते है रूम हीटर और अंगीठी का इश्तेमाल? अबतक दम घुटने से 4 दिनों में 7 की मौतें, 66 लोग पहुंचे रिम्स  |  जमाखोरों और सूदखोरों के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी थी निर्मल महतो ने, झारखंड के इस कद्दावर नेता की दिन दहाड़े हत्या कर दी गई थी, सीएम हेमंत सोरेन ने जयंती पर दी श्रद्धांजलि  |  झारखंड में मिले 55 पॉजिटिव, कंटेनमेंट जोन बनाने की तैयारी:रांची और कोडरमा में तेजी से फैल रहा कोरोना, हेल्थ डिपार्टमेंट अलर्ट  |  चक दे झारखण्ड: भारतीय महिला हॉकी टीम के कैंप के लिए 4 बेटियों का हुआ चयन,झारखंड के 6 खिलाड़ियों को मौका  |  झारखंड दे रहा देश को दिशा: झारखंड की दीदी बगिया योजना व सखी मंडल गतिविधियों को दूसरे राज्य भी करें लागू : एनएन सिन्हा   |  लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाने का विरोध:झारखंड के मंत्री ने कहा- बढ़ाने के बजाय कम करनी चाहिए उम्र, UP के सपा सांसद बोले- आवारगी करेंगी लड़कियां  |  धनबाद में जज हत्या मामला: हाईकोर्ट ने कहा- CBI डायरेक्टर को बुला कर ही सवाल पूछना होगा, परिणाम की जगह केवल रिपोर्ट मिल रहा  |  Karnataka Congress MLA’s “enjoy rape” remark controversy and reactions  |  बैंक कर्मियों के हड़ताल: कोडरमा-चतरा जिले में 230 करोड़ का कारोबार प्रभावित  |  20 दिसंबर के बाद झारखंड में बढ़ेगी ठंड: कश्मीर की बर्फीली हवा राज्य में बढ़ाएगी कनकनी, दो दिन बाद बारिश के आसार  |  
राष्ट्रीय

Kriti Verma 01/12/2021 :
संसद का विंटर सेशन LIVE:कृषि मंत्री मुआवजे के सवाल पर बोले- किसानों की मौत का कोई रिकॉर्ड नहीं, मदद का सवाल ही नहीं उठता
 
12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्षी दल भड़के हुए हैं। विपक्ष यह निलंबन रद्द करने की मांग कर रहा है। सभापति ने निलंबित सांसदों से माफी मांगने पर फैसला वापस लेने की बात कही है लेकिन विपक्ष इसके लिए तैयार नहीं है।

संसद का विंटर सेशन शुरू हो चुका है। इस सत्र का आज तीसरा दिन है। दोनों सदनों में तीसरे दिन की कार्यवाही की शुरुआत भी काफी हंगामेदार रही। विपक्ष के हंगामे के चलते राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी गई। इसके कुछ समय बाद ही लोकसभा की कार्यवाही भी दोपहर 12 बजे तक स्थगित कर दी गई। 12 बजे के बाद कार्यवाही दोबारा शुरू हुई लेकिन विपक्षी नेताओं का हंगामा नहीं थमा। राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

दरअसल, 12 राज्यसभा सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्षी दल भड़के हुए हैं। विपक्ष यह निलंबन रद्द करने की मांग कर रहा है। सभापति ने निलंबित सांसदों से माफी मांगने पर फैसला वापस लेने की बात कही है लेकिन विपक्ष इसके लिए तैयार नहीं है। वहीं, सपा सांसद जया बच्चने ने धरने पर बैठे सांसदों को चॉकलेट और बिस्कुट बांटे। उन्होंने कहा कि एनर्जी के लिए बहुत जरूरी है ताकि आप लोग सरकार के खिलाफ धरना दे सकें।

'कृषि मंत्रालय के पास मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं'
वहीं, कृषि कानून वापसी को लेकर किए गए आंदोलन में हुई किसानों की मौत और मुआवजे को लेकर सरकार ने मंगलवार को संसद में जवाब दिया। विपक्ष ने सरकार से सवाल पूछा था कि सरकार के पास ऐसा कोई आंकड़ा है, जिसमें प्रभावित परिवारों का जिक्र हो या फिर उनकी मदद के लिए कोई प्रस्ताव हो। इस पर कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि कृषि मंत्रालय के पास मौतों का कोई रिकॉर्ड नहीं है। ऐसे में मुआवजे का सवाल नहीं उठता है।

विपक्ष ने कहा कि कृषि कानूनों के खिलाफ सालभर चले आंदोलन के दौरान 700 किसानों की मौत हुई। कृषि कानून वापसी बिल सोमवार को दोनों सदनों में पास हो गया था। इन कानूनों की वापसी का ऐलान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 18 नवंबर को किया था। उन्होंने देश से माफी मांगते हुए कहा था कि शायद उनकी तपस्या में कोई कमी रह गई।

आज की कार्यवाही शुरू होने से पहले ही सांसदों के निलंबन को लेकर विपक्ष ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। विपक्षी नेताओं ने संसद में महात्मा गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया। राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हम राज्यसभा के 12 विपक्षी सदस्यों का निलंबन रद्द करने की मांग कर रहे हैं। हम एक बैठक करेंगे और भविष्य की कार्रवाई तय करेंगे।

TMC सांसद सौगत रॉय बोले- धरना जारी रहेगा
तृणमूल सांसद सौगत रॉय ने कहा कि 12 निलंबित सांसदों को माफी मांगने को कहा गया है लेकिन मुझे नहीं लगता कि विपक्ष माफी मांगेगा। 12 सांसद में 2 सांसद तृणमूल के भी हैं, तृणमूल माफी मांगने के खिलाफ है। तृणमूल के दोनों सांसद गांधी मूर्ति के समक्ष धरने पर बैठें हैं और ये धरना जारी रहेगा।

दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने सस्पेंशन ऑफ बिजनेस नोटिस भेजा
राज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों को वित्तीय सहायता और MSP की कानूनी गारंटी पर चर्चा की मांग की है। इसे लेकर उन्होंने सदन को सस्पेंशन ऑफ बिजनेस नोटिस दिया है। वहीं, कांग्रेस के राज्यसभा सांसद शक्तिसिंह गोहिल ने सदन में स्थगन प्रस्ताव भेजा है। यह प्रस्ताव खाद्यान्न, तेल, पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस जैसी आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी पर चर्चा के लिए भेजा गया है।



झारखंड की बड़ी ख़बरें
»»
Video
»»
संपादकीय
»»
विशेष
»»
साक्षात्कार
»»
पर्यटन
»»


Copyright @ Jharkhand Life