Breaking News
पीएम मोदी ने देवघर एयरपोर्ट का किया उदघाटन, करोड़ो रूपये के योजनाओं का किया शिलान्यास  |  केरल पहुंचा मॉनसून, झमाझम बारिश शुरू, जानें झारखंड में कब पहुंचेगा मॉनसून  |  लद्दाख में झारखंड का लाल सड़क हादसे में शहीद  |  चौथे चरण में शांतिपूर्वक तरीके से चल रहा मतदान  |  कैसे गिरी थी बाबरी मस्जिद: आँखों देखी लाइव रिपोर्ट  |  Jharkhand Corona Update: WHO और राज्य सरकार के अध्ययन के मुताबिक कोविड से मरने वाले 55% लोग गरीबी रेखा से नीचे के  |  पुतिन-मोदी मुलाकात LIVE: रूसी राष्ट्रपति ने कहा- भारत महान शक्ति और भरोसेमंद दोस्त; दोनों देशों के बीच 6 सेक्टर्स में समझौते संभव  |  माओवादियों ने लगाए पोस्टर लिखा: RSS के निर्देश पर केंद्र सरकार किसान,मजदूर, नौजवान व मानवाधिकार कार्यकर्ताओं पर कर रही हमले, विरोध का ऐलान  |  दिल्ली पहुंचा ओमिक्रॉन:तंजानिया से लौटे यात्री में मिला संक्रमण, देश में 4 दिन में नए वैरिएंट के 5 केस सामने आए  |  हिंदपीढ़ी के युवक मुजाहिद को मारी गई गोली, आक्रोशित लोगों ने हमले के आरोपी का घर जलाया, एक युवक गिरफ्तार  |  
विशेष
30/11/2021 :16:49
झारखण्ड में 2022-23 से इंजीनियरिंग की तैयारी के लिए 50 बच्चे और मेडिकल के लिए 25 छात्र-छात्राओं का चयन किया जाएगा
 
प्रेरणा के तहत अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक और पिछड़े वर्ग के वैसे छात्र-छात्राओं को इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए कोचिंग दी जाएगी जो JAC की ओर से आयोजित आकांक्षा की प्रवेश परीक्षा की मेधा सूची में नीचे रह जाते हैं। आकांक्षा के लिए चयनित नहीं होने वाले इन कोटि के छात्र-छात्राओं को इसमें जगह दी जाएगी।

झारखंड के अनुसूचित जाति (SC) व अनुसूचित जनजाति(ST) वर्ग के गरीब बच्चों को अब झारखंड सरकार फ्री में इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन की तैयारी कराएगी। इसके लिए "प्रेरणा' योजना की शुरुआत की गई है। इसे राज्य सरकार के कल्याण विभाग की तरफ से शुरू किया गया है।

सत्र 2022-23 से इंजीनियरिंग की तैयारी के लिए 50 छात्र-छात्राओं और मेडिकल के लिए 25 छात्र-छात्राओं का चयन किया जाएगा। इनकी तैयारी की जिम्मेदारी भी स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग को ही दी गई है। सरकारी स्कूल के शिक्षक अलग से कराएंगे तैयारी

इसमें योग्यताधारी शिक्षकों की सेवा ली जाएगी। जो शिक्षक आवासीय विद्यालयों या सरकारी स्कूलों में कार्यरत हैं उन्हें इसमें प्रतिनियुक्त किया जाएगा। इसके लिए उन्हें वेतन के साथ-साथ हर दिन 500 रुपये मानदेय दिए जाएंगे।

कल्याण विभाग ने शिक्षकों के चयन के लिए आदिवासी कल्याण आयुक्त की अध्यक्षता में कमेटी का भी गठन किया है। यह कमेटी रांची में तैयार हुई या फिर खाली भवनों को चिन्हित करेगी। यह कमेटी कोचिंग में पढ़ाने के लिए विश्वविद्यालय शिक्षक और विषय विशेषज्ञ शिक्षकों की सेवा ले सकती है। यह समिति ही कोचिंग सेंटर पर चयनित छात्र-छात्राओं के रहने, उनके खाने-पीने और सुरक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित कराएगी।

प्रेरणा के तहत अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक और पिछड़े वर्ग के वैसे छात्र-छात्राओं को इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए कोचिंग दी जाएगी जो JAC की ओर से आयोजित आकांक्षा की प्रवेश परीक्षा की मेधा सूची में नीचे रह जाते हैं। आकांक्षा के लिए चयनित नहीं होने वाले इन कोटि के छात्र-छात्राओं को इसमें जगह दी जाएगी।



झारखंड की बड़ी ख़बरें
»»
Video
»»
संपादकीय
»»
विशेष
»»
साक्षात्कार
»»
पर्यटन
»»


Copyright @ Jharkhand Life