Breaking News
मुरी रेलवे स्टेशन पर नॉन इंटरलाकिंग कार्य की वजह से रांची से 4 जोड़ी ट्रेनें अगले 7 दिनों तक रद्द रहेंगी।   |  झारखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ. रवि रंजन ने मंगलवार को जस्टिस सुभाष चांद को शपथ दिलाई।  |  बिहार में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को केन्द्र सरकार पर आरोप लगाया कि वह झारखंड के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है जिसे कदापि बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।  |  पाकिस्तान ने भारत को 10 विकेट से हराया  |  द हंस फाउंडेशन ने 5 करोड़ का सहयोग दिया।  |  केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने शनिवार को राज्य सरकार पर बड़ा आरोप लगाया  |  जमशेदपुर में साकची और बिस्टुपुर में छिनतई करने वाले दो बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।   |  इंग्लैंड ने 2016 के फाइनल मुकाबले का लिया बदला, विंडीज को 6 विकेट से दी शिकस्त  |  आ गई वर्ल्ड कप में महामुकाबले की घड़ी  |  आम आदमी पार्टी प्रमुख एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अगले सप्ताह अयोध्या जाने वाले हैं।  |  

TRIPURARI RAY 13/06/2018 :
झारखंड हाईकोर्ट ने वर्तमान और पूर्व खान सचिव को तलब किया
Total views 985
रांची. कोर्ट के आदेश के बाद भी खनन के लिए लंबित आवेदनों पर निर्णय नहीं लेने पर झारखंड हाईकोर्ट ने नाराजगी जताई है। सारंडा क्षेत्र में अवैध उत्खनन के मामले में सरयू राय द्वारा दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने मंगलवार को इस मामले में सरकार का जवाब सुनने के बाद नाराजगी जताई। खान विभाग के वर्तमान सचिव व पूर्व सचिव को कोर्ट में उपस्थित होकर जवाब देने को कहा।

- कोर्ट ने 27 जून को सुबह 10:30 बजे अधिकारियों को कोर्ट में उपस्थित होने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने पूछा है कि लीज के लिए खनन विभाग के पास जो आवेदन लंबित हैं, उनके क्लियरेंस अभी तक क्यों नहीं हुए। जनहित याचिका में बताया गया है कि सारंडा क्षेत्र में अवैध उत्खनन हो रहा है। इससे वन पर्यावरण पर बुरा असर पड़ रहा है। इसकी रोकथाम के लिए समुचित आदेश दिए जाएं।



झारखंड की बड़ी ख़बरें
»»
Video
»»
संपादकीय
»»
विशेष
»»
साक्षात्कार
»»
पर्यटन
»»


Copyright @ Jharkhand Life